बिहार में प्रेमी ने पुलिस हिरासत में की सुसाइड, थानेदार को एसपी ने किया सस्पेंड

बिहार में प्रेमी ने पुलिस हिरासत में की सुसाइड, थानेदार को एसपी ने किया सस्पेंड

Crime-Bihar-lover-sued-in-police-custody-8340
बेगुसराय : बिहार के बेगूसराय जिले के बीरपुर थाना में उस वक्त अजीब मामला देखने को मिला जब प्रेम प्रसंग के मामले में हिरासत में लिए युवक विक्रम पोद्दार ने सुसाइड कर ली। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने थानेदार को सस्पेंड कर दिया है। बताया जा रहा है कि विक्रम का गांव पर्रा की ही लड़की के साथ प्रेम प्रसंग का मामला चल रहा था। दोनों जोड़ों की प्यार परवान चढ़ने के बाद दोनों दिल्ली फरार हो गए थे।


जहां वीरपुर पुलिस ने लड़की और लड़का की दिल्ली से बरामदगी कर कोर्ट में पेश किया। जहां लड़की ने 164 के ब्यान में लड़के से प्रेम प्रसंग के बात से इंकार कर दी‌‌। जिसके बाद पुलिस ने लड़के को हिरासत में लेकर वीरपुर थाना लेकर आई। जहां लकड़ी पक्ष के सैकड़ों दबंग लोगों ने पंचायत के नाम पर थाना पर चढ़ाई कर दी। लड़की ब्राह्मण और लड़का पोद्दार जाती से होने के नाते मामला तूल पकड़ लिया।


हिरासत में लिए लड़का विक्रम पोद्दार को थानाध्यक्ष अमर कुमार ने कस्टडी रूम में रखने के बजाय स्टाफ रूम में रखा। जिसके बाद शाम में अचानक लड़के के परिजन मालूम हुआ कि विक्रम पोद्दार ने थाने में गले में गमछा लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके बाद जब लड़के के परिजन थाने गए तो उल्टे पुलिस ने परिजन को हिरासत में  लिया‌। जिसके बाद पूरे वीरपुर में लड़के की आत्महत्या और हत्या का चर्चा बन गया है।


थाने पर पंचायत कराने लड़की पक्ष से पर्रा गांव के छोटेलाल सिंह,नवीन सिंह, सरपंच रतन सिंह धर्मेंद्र सिंह,मनोज झा, लड़की की पिता घोल्टन झा समेत आदि लोग गए थे। आखिर सवाल ये उठता है कि जब लड़की संगम कुमारी लड़का से प्रेम प्रसंग की बात से इंकार कर घर चली गई तो फिर वीरपुर थाना पर पंचायत क्यों? सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लड़का विक्रम पोद्दार अपने गले में कभी गमछा नहीं लगाया करता था‌। तो फिर उसके पास गमछा कैसे आया? फिलहाल बेगूसराय एसपी अवकाश कुमार ने मामला को गंभीरता पूर्वक देखते हुए वीरपुर थानाध्यक्ष अमर कुमार झा को निलंबित कर दिया है।

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel