JKNEWS 175 Home देश बिहार झारखंड उत्तर प्रदेश दिल्ली उत्तराखंड राजस्थान हरियाणा महाराष्ट्र क्राइम सड़क हादसा देश-विदेश

कांग्रेस ने भी किया PM मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ का समर्थन, कहा इस युद्ध में सरकार के साथ है हम

कांग्रेस ने भी किया PM मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ का समर्थन, कहा इस युद्ध में सरकार के साथ है हम


नई दिल्ली : वैश्विक महामारी कोरोना से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने कहा कि वह इस युद्ध में सरकार के साथ है। जबकि माकपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावों को केवल सांकेतिक बताकर खारिज किया है। वहीं सत्तारूढ़ भाजपा ने प्रधानमंत्री के सुझावों की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ता इस पर अमल करने में मदद करेंगे। संघ ने भी जनता कर्फ्यू के प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री का भरपूर साथ दिया।

संसाधनों की न हो कोई कमी

गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद विपक्षी दल कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अजय माकन ने कहा कि देश भर में कोरोना की जांच के लिए और केंद्र होने चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि बचाव करने वाले संसाधनों की कोई कमी नहीं होनी चाहिए। माकन ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी और उसके कार्यकर्ता कोरोना वायरस से निपटने में पूरी तरह से सरकार का साथ देंगे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि वह पीएम मोदी का समर्थन करने के लिए कर्तव्य से बंधे हुए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ युद्ध छेड़ने में हमें रविवार को और आने वाले दिनों में उनका नैतिक समर्थन करना चाहिए।


माकपा ने सरकार के प्रयासों पर सवाल खड़े किए

इसके विपरीत एक अन्य विपक्षी दल माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कोरोना को लेकर सरकार के प्रयासों पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस वैश्विक बीमारी से निपटने के लिए सरकार आखिर क्या तैयारी कर रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार सिर्फ संकेतों के आधार पर इस महामारी से निपटना चाहती है।

भाजपा और आरएसएस ने किया जनता कर्फ्यू के विचार का समर्थन

वहीं, सत्तारूढ़ दल भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि उन्होंने जनता से एक दूरदृष्टि वाले नेता की तरह बात की है और प्रेरणादायी सुझाव दिए हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि जनता प्रधानमंत्री के आग्रह का पालन करेगी। जबकि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने मोदी के जनता कर्फ्यू के विचार का समर्थन करते हुए सोशल डिस्टिेंसिंग की भी पैरवी की है।


क्‍या है जनता कर्फ्यू? 

पीएम मोदी के अनुसार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक कोई व्‍यक्ति घर से बाहर न निकले। अपने आप से कर्फ्यू जैसे हालात करने हैं। पीएम ने अपील की कि संभव हो तो हर व्यक्ति प्रतिदिन कम से कम 10 लोगों को फोन करके कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के साथ ही जनता-कर्फ्यू के बारे में भी बताएं। पीएम ने अपील की कि रविवार को ठीक 5 बजे हम घर के दरवाजे पर खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।


पीएम मोदी ने देशवासियों को ब्‍लैक आउट के बारे में समझाया 

पीएम मोदी ने संबोधन में कहा कि आज की पीढ़ी इससे बहुत परिचित नहीं होगी लेकिन पुराने समय में जब युद्ध की स्थिति होती थी तो गांव-गांव में ब्‍लैक आउट किया जाता था। घरों के शीशों पर कागज लगाया जाता था, लाइट बंद कर दी जाती थी, लोग चौकी बनाकर पहरा देते थे।

Share Post