समस्तीपुर में मां बनाने के बाद लड़की को छोड़ा: कुंवारी बन गई मां; अब किया शादी से इनकार, मॉल में काम करने के दौरान बढी नज़दीकियां

SAMASTIPUR : बिहार के समस्तीपुर जिले में युवक ने महिला को मां बनाकर उसे छोड़ दिया. दोनों शहर के एक मॉल में काम करते है. इस दौरान दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी. इस दौरान दोनों में शारीरिक संबंध स्थापित हो गया. महिला जब मां बन गई तो युवक ने शादी से इनकार कर दिया. ऐसे में महिला अब बच्चे को गोद में लेकर न्याय के लिए दर-दर भटक रही. दरअसल, शहर के एक मॉल में कार्य करने के दौरान सहकर्मी से नजदीकियां बढ़ी थी. समय बीतने के दौरान दोनों काफी करीब आ गए. अब जब युवती के गोद में एक बच्चा आ गया तो युवक ने शादी करने से इनकार कर दिया. गांव में मामले को लेकर पंचायत भी हुआ लेकिन समझौता नहीं होने पर बच्चे को लेकर कुंवारी मां अब महिला थाने पहुंची है.

जरूरत पड़ी तो बच्चे का डीएनए टेस्ट भी हो….

इस मामले में महिला थाने में मुसरीघरारी थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती ने गांव के ही शशि कुमार पटेल नामक युवक को आरोपित किया है. उधर महिला थाना अध्यक्ष पुष्प लता ने बताया कि युवती के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर उसका मेडिकल जांच कराया गया है. मामले की जांच की जा रही है. ताकि समाज उन्होंने बताया कि इस मामले में जरूरत पड़ी तो बच्चे का डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा.

शशि कुमार पटेल के साथ उसकी बाइक पर माल आया जाया करती थी

घटना के संबंध में आपबीती सुनाते हुए पीड़ित युवती ने बताया कि वह शहर के मॉल में काम करते थी. कोरोना की दूसरी लहर में लॉकडाउन के दौरान मॉल खुला हुआ था. वाहन से आने जाने में परेशानी थी. इसी दौरान मॉल के मैनेजर के कहने पर वह गांव के ही शशि कुमार पटेल के साथ उसकी बाइक पर माल आया जाया करती थी. इसी दौरान दोनों की नजदीकियां बढ़ गई और दोनों में शारीरिक संबंध स्थापित हो गया. जिसके बाद शशि उससे शादी कर लेने की बात कर रहा था. समय बीतता गया और उसने एक बच्चे को जन्म भी दे दिया.

जिसके बाद से शशि शादी नहीं करने के कई तरह के बहाने निकालने लगा. इस दौरान उसने डेढ़ वर्ष पूर्व एक पुत्र को जन्म दिया. इस दौरान गांव में मामले को लेकर कई बार पंचायत भी हुई. लेकिन शशि के परिवार वाले पंचायत की बात को अनसुनी करते रहे. ‌अब जब वह पूरी तरह से शादी करने से इनकार कर दिया है. तब युवती महिला थाना पहुंची है.

महिला थाना अध्यक्ष पुष्प लता ने बताया कि युवती के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है. चुकी युवती के पास एक बच्चा भी है यह बच्चा उक्त युवक का है अथवा किसी अन्य का इसको लेकर पहले डीएनए टेस्ट कराया जाएगा डीएनए टेस्ट में बच्चा के युवक के होने की पुष्टि होती है तो युवक की गिरफ्तारी होगी. उन्होंने बताया कि इस मामले में दलित उत्पीड़न एक्ट भी लगाया गया है जो कि युवती दलित वर्ग से आती है.