Wednesday, April 1, 2020

समस्तीपुर आए तबलीगी जमात से जुड़े 9 बंग्लादेशी समेत 11 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में, सैंपल को भेजा गया जांच के लिए

समस्तीपुर आए तबलीगी जमात से जुड़े 9 बंग्लादेशी समेत 11 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में, सैंपल को भेजा गया जांच के लिए

दिल्ली स्थित निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल होने के बाद समस्तीपुर आए नौ बांग्लादेशी समेत 11 लोगों की जांच की गई। मेडिकल टीम ने बुधवार को शहर के धर्मपुर मोहल्ले से लाकर सभी को आइसोलेशन के लिए होटल डबल ट्री में रखा है।

समस्तीपुर/बिहार : दिल्ली स्थित निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल होने के बाद समस्तीपुर आए नौ बांग्लादेशी समेत 11 लोगों की जांच की गई। मेडिकल टीम ने बुधवार को शहर के धर्मपुर मोहल्ले से लाकर सभी को आइसोलेशन के लिए होटल डबल ट्री में रखा है। इनमें एक मेरठ और दूसरा साहेबगंज का रहनेवाला है। सभी जमात में शामिल होने के बाद 28 फरवरी को वहां से निकल गए थे। इसके बाद सभी समस्तीपुर पहुंचे थे। यहां घूम-घूमकर अपने धर्म का प्रचार-प्रसार कर रहे थे।
सभी शहर के धर्मपुर मोहल्ले में एक युवक के यहां ठहरे हुए थे। बुधवार को समाचार के विभिन्न माध्यमों पर दिल्ली तब्लीगी मरकज से संबंधित खबर देखने-पढ़ने के बाद इसकी सूचना गृहस्वामी ने प्रशासनिक टीम को दी। सूचना पर हरकत में आए अधिकारियों ने तत्काल सभी की जांच कराई। और, उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया। इनके अलावा विभिन्न राज्यों से जिले में भिन्न-भिन्न समयों में पहुंचे 51 लोगों की स्क्रीनिंग कराई गई। इसके बाद सभी को संबंधित पंचायत में भेजा गया।
समस्तीपुर जिले में अब तक 34 संदिग्धों की जांच हुई है। इनमें से 17 की रिपोर्ट निगेटिव है। शेष की रिपोर्ट लंबित है। लॉकडाउन से पूर्व छह संदिग्धों की पटना में जांच कराई गई थी। इनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। अब जिले में भी सैंपल लेने की व्यवस्था की गई है। सोमवार से बुधवार तक 28 लोगों के सैंपल लिए गए। अनुमंडलीय अस्पताल दलसिंहसराय से प्रथम राउंड में छह और दूसरे में पांच का सैंपल लिए गए। इनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अनुमंडलीय अस्पताल रोसड़ा में तीसरे राउंड में 14 और दलसिंहसराय में तीन के सैंपल लिए गए। इनकी अभी तक रिपोर्ट आनी बाकी है।
CORONA UPDATE:देश में अब तक 55 मौत,1900 से ज्यादा मरीज

CORONA UPDATE:देश में अब तक 55 मौत,1900 से ज्यादा मरीज

CORONA UPDATE:देश में अब तक 55 मौत,1900 से ज्यादा मरीज

CORONA UPDATE : कोराना वायरस से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। कोरोना का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना से अब तक देश भर में 55 लोगों की मौत हो गयी है जबकि कोरोना पॉजिटिव की संख्या 1900 को पार कर चुकी है।  महाराष्ट्र की झुग्गी बस्ती तक कोरोना पहुंच गया है, वहीं दिल्ली में भी कोरोना के नए मरीज सामने आए हैं।  इसके अलावा दिल्ली मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों में भी देश के अलग-अलग हिस्सों से इस बीमारी की चपेट में आने की पुष्टि हो रही है।  कोरोना वायरस ने फिलहाल तेजी पकड़ ली है। 


सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में कोरोना का कहर बरपा है।  यहां पर 4 और लोगों की मौत हो गई है। सभी मौतें मुंबई में हुई हैं। राज्य में अब तक 16 लोगों की मौत कोरोना वायरस से हो चुकी है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 335 है। 


वहीं दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज से लौटे लोगों का लगातार कोरोना से संक्रमित पाए जाना जारी है। मरकज से तमिलनाडु लौटे 110 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ ही तमिलनाडु में कोरोना के मरीजों की संख्या 234 हो गई है। केरल में कोरोना वायरस के आज 24 नए केस सामने आए हैं। यहां पर मरीजों की संख्या 265 हो गई है. 237 लोगों का इलाज जारी है। 
विधायक की बहू को किया गया क्वॉरेंटाइन, घर की रसोईया भी अस्पताल में भर्ती

विधायक की बहू को किया गया क्वॉरेंटाइन, घर की रसोईया भी अस्पताल में भर्ती

विधायक की बहू को किया गया क्वॉरेंटाइन, घर की रसोईया भी अस्पताल में भर्ती

पटना : बिहार में कोरोना पॉजिटिव मामले बढ़ते जा रहे हैं। आज यह आंकड़ा 24 तक पहुंच गया है। बुधवार को आरएमआरआई में अब तक 177 सैंपल की जांच हो चुकी है। जिसमें एक मामला पॉजिटिव आया है। पिछले 24 घंटे के अंदर बिहार में कोरोना से संक्रमण का मामला डेढ़ गुना बढ़ा है। इस बीच मुंगेर से खबर आ रही है  कि वहां एक विधायक की बहू और रसोइया को क्वॉरेंटाइन किया गया है।


एक विधायक की बहू और खाना बनानेवाली रसोइया को तीन दिनों तक मुंगेर अनुमंडल अस्पताल में क्वॉरेंटाइन किया गया है। अस्पताल में डॉक्टरों की देख-रेख में उन्हें रखा जा रहा है। इस बीच अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ बीएन सिंह ने कहा कि अब तक जांचोपरांत 375 व्यक्तियों को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है।उन्होंने कहा कि तीन मोबाइल वैन चिकित्सक, एक एएनएम और स्थानीय आशा के नेतृत्व में होम क्वॉरेंटाइन लोगों की नियमित जांच की जा रही है। 


इधर जिले में निगरानी समिति द्वारा अपनी जवाबदेही में लापरवाही बरती जा रही है।जानकारी के मुताबिक किसी भी पंचायत स्तरीय सेंटर पर कोई भी व्यक्ति क्वारेंटाइन में नहीं है। जिन कर्मियों को बीडीओ द्वारा प्रतिनियुक्त किया गया है वह भी वहां मौजूद नहीं थे। आशा कार्यकर्ता, एएनएम अथवा वार्ड स्तरीय निगरानी समिति द्वारा वैसे लोगों की कोई नियमित हाजिरी नहीं ली जा रही है।
युवक ने कोरोना को लेकर फेसबुक पर फैलाया अफवाह, पुलिस ने भेजा जेल

युवक ने कोरोना को लेकर फेसबुक पर फैलाया अफवाह, पुलिस ने भेजा जेल

युवक ने कोरोना को लेकर फेसबुक पर फैलाया अफवाह, पुलिस ने भेजा जेल

शिवहर/बिहार :  फेसबुक पर कोरोना को लेकर कोरोना वायरस महामारी के संबंध में गलत पोस्ट कर झूठी अफवाह फैलाने पर शिवहर पुलिस ने नगर पंचायत शिवहर के वार्ड नंबर 10 से एक युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

लोगों को में भय फैला रहा था युवक

पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर बताया है कि इस मामले में शिवहर पुलिस के संज्ञान में आया कि शिवहर में इबरान पिता मोहम्मद शोएब अली के द्वारा वर्तमान समय में देश में फैले कोरोना महामारी के संबंध के माध्यम से मिथ्या कॉमेंट पोस्ट कारण लोगों भय फैलाने का प्रयास किया गया है। जब देश में राष्ट्रीय आपदा का प्रावधान लागू है और सोशल मीडिया पर भ्रामक/ मिथ्या एवं घृणा फैलाने वाली सूचना का प्रचार प्रसार पर रोक के बाद भी इस तरह का युवक ने काम किया।

भेजा गया जेल

संजय कुमार सिंह ने बताया इस संबंध में शिवहर थाना कांड में केस दर्ज कर मोहम्मद इबरान पिता मोहम्मद शोएब अली नगर पंचायत वार्ड नंबर 10 थाना जिला शिवहर को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें कि इस तरह की कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में यह बिहार में पहली गिरफ्तारी है।
सावधान ! बिहार में विदेश यात्रा से लौटे 4 हजार लोग, सबके ऊपर सरकार की निगाहें

सावधान ! बिहार में विदेश यात्रा से लौटे 4 हजार लोग, सबके ऊपर सरकार की निगाहें

careful-4-thousand-people-returned-from-foreign-trip-in-Bihar-governments-eyes-on-everyone-8340

पटना/बिहार : विश्व भर में कोरोना ने आतंक मचा रखा है। कोरोना के कहर से अब तक दुनिया भर में साढ़े 8 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। वर्ल्ड में अब तक 40 हजार से अधिक लोगों ने दम तोड़ दिया है। भारत में भी इसका आंकड़ा पिछले 24 से 48 घंटे में तेजी से बढ़ा है। बिहार सरकार कोरोना से लगातार फाइट कर रही है। बिहार में 23 मार्च तक विदेश यात्रा से लौटने वाले 4000 लोग चिन्हित किये गए हैं। सबके ऊपर सरकार की निगाहें हैं। पूरे इंडिया में बिहार ही एक ऐसा राज्य है। जहां कोरोना के लक्षण से पहले ही कोरोना के मरीज पकड़े जा रहे हैं।

बिहार सरकार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि बिहार में तकरीबन 4 हजार लोग 23 मार्च तक आये हैं। सबकी जांच की जा रही है। सबकी हालत के बारे में जानकारी ली जा रही है बिहार में जो भी व्यक्ति विदेश से लौटे हैं। डेट बाई डेट सबकी जांच कराई जा रही है। हर किसी के ऊपर निगाहें जमी हुई हैं। फोन कर उनकी हालत के बारे में पता लगाया जा रहा है। भारत के अन्य किसी राज्य में ऐसा नहीं हो रहा है। बिहार के अंदर एक्टिव स्क्रीनिंग के कारण ही कोरोना से पीड़ित मरीजों को पकड़ा गया है। चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि बिहार में मंगलवार को 6 पॉजिटिव के स सामने आये हैं। ये सभी केस एक्टिव स्क्रीनिंग से आये हैं। यह किसी भी राज्य में नहीं हो रहा है। बिहार पहला राज्य है जहां एक्टिव स्क्रीनिंग हो रही है।

उन्होंने आगे बताया की जितने सारे इंटरनेशनल ट्रैवेलर्स हैं। उनकी भी आस्तिक स्क्रीनिंग की जा रही है। बिहार में 23 मार्च तक लास्ट बिहार में इंटरनेशनल ट्रेवलर्स आये हैं। 22 मार्च को भी कुछ लोग विदेश से आये हैं। सभी की स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके साथ ही बिहार सरकार के लिए कोरोना आपदा में एक नई चुनौती खड़ी हो गई है। कोरोना वायरस के केंद्र बने मरकज तब्लीगी जमात के 162 लोगों की पूरी लिस्ट बिहार सरकार को सौंपी गई है। जसिमें 57 विदेशी भी शामिल हैं। बिहार के चीफ सेक्रेटरी दीपक कुमार ने बताया कि सभी तब्लीगियों की तलाश जारी है। सबको ट्रेस किया जा रहा है। ATS और बिहार पुलिस सभी की तलाश में जुटी हुई है।

चीफ सेक्रेटरी दीपक कुमार ने एक बड़ी जानकारी देते हुए बताया कि कई लोगों को ट्रेस किया जा चुका है‌। आतंकवाद निरिओध दस्ते को भी इस कार्य में लगाया गया है। उन्होंने बताया कि बहुत ऐसे लोग हैं, जिनको चिन्हित किया जा चुका है। लिस्ट में कई ऐसे लोग भी हैं, जिनको फिलहाल दिल्ली में क्वारंटाइन किया गया है. कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो बिहार आकर वापस कहीं चले भी गए हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के मरकज को 24 घंटे बाद खाली करा लिया गया है। खाली कराने के बाद जगह को सील कर दिया गया है। कल देर रात तक ऑपरेशन चलता रहा। अब यहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है और बैरिकेडिंग भी कर दी गई है। इसके साथ ही मरकज मामले में मौलाना साद और तब्लीगी जमात के दूसरे लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। महामारी अधिनियम 1897 और आईपीसी की दूसरी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मुख्यमंत्री के साथ चल रही अहम बैठक को लेकर मुख्य सचिव ने जानकारी दी कि सभी पंचायत और नगर अध्यक्षों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की जाएगी। जिसके माध्यम से बाहरी लोगों को क्वारंटाइन करने का निर्देश दिया जायेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि लॉक डाउन को सख्ती के साथ लागू किया गया है। बिहार सरकार कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए लगातार काम कर रही है।
नालंदा में दिनदहाड़े शख्स को मारी गोली, जांच में जुटी पुलिस

नालंदा में दिनदहाड़े शख्स को मारी गोली, जांच में जुटी पुलिस

नालंदा में दिनदहाड़े शख्स को मारी गोली, जांच में जुटी पुलिस

नालंदा : बिहार के नालंदा जिले से बड़ी खबर आ रही है, जहां बेखौफ अपराधियों ने एक पिकअप चालक को गोली मार दिया है। मामला नगरनौसा थाना इलाके के मोनियम पुर गांव की है जहां बुधवार को दिनदहाड़े अपराधियों ने एक पिकअप चालक को गोली मारकर बुरी तरह जख्मी कर दिया। घायल चालक को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया है, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया है। घायल चालक की पहचान सुबोध कुमार के रूप में की गई है।


चालक ने बताया कि मंगलवार को ही कुछ लोगों के साथ उसका विवाद हुआ था। उस वक्त मामला शांत हो गया। लेकिन जब वह बुधवार को  गांव में लगे पिकअप को लाने गया तो उसी दौरान चार बदमाशों ने उसे घेर लिया और उसके साथ मारपीट करने लगे। मारपीट का जब उसने विरोध किया तो बदमाशों ने उसे गोली मार दी और हथियार लहराते हुए फरार हो गए। गोली की आवाज सुनकर आपसास के लोग मौके पर पहुंचे और उसे इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे पटना रेफर कर दिया गया है। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच जांच में जुट गई है।