Bihar: दिल्ली जाने के लिए निकला था युवक, तीसरे दिन बंद बोरे से बेहोशी में मिला

ARARIA : बिहार के अररिया जिले का एक युवक गैरेज का सामान लाने दिल्ली के लिए निकला था, लेकिन तीसरे दिन वह बांस की झाड़ी में बेहोशी की हालत में एक बंद बोरे से बरामद हुआ. गनीमत रही कि बोरे में बंद होने के बाद भी वह जिंदा रहा. फिलहाल स्थानीय लोगों के द्वारा उसे अररिया सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है. मामला जोकीहाट थाना क्षेत्र के सिमरिया पंचायत के बोरिया टंकी टोला वार्ड संख्या 09 की है.

अपहरण से पहले हुआ था विवाद

दरअसल धोबनिया निवासी मोहम्मद जफीर और मोहम्मद जहांगीर 2 जनवरी 2023 को गैरेज का सामान खरीदने के लिए दिल्ली जा रहे थे. तभी बीच रास्ते से ही कुछ लोगों ने जफीर को अगवा कर लिया और मोहम्मद जहांगीर को वहां से भगा दिया. जहांगीर ने जफीर के घर पर आकर परिजनों को सारी बात की जानकरी दी. घटना की जानकारी मिलते ही परिजन घटना की सुचना पुलिस को देते हुए जफीर को ढूंढने लगे लेकिन उसका कहीं कोई अता पता नही चल पाया. फिर जहांगीर से पूछताछ के बाद पुलिस ने अब्दुल कैयुस, बुद्धू और अरतिया निवासी इमत्याज के घर पर दबिश बनाने पहुंची लेकिन तीनों आरोपी अपने अपने घर से फरार थे.

गुरूवार की सुबह एक महिला जब शौच करने गयी तब धोबनिया स्थित एक बांस के झाड़ी में एक बंद बोरा देखकर उसे शक हुआ. शक के आधार पर उसने आसपास के लोगों को इसकी सुचना दी. स्थानीय लोगों के द्वारा जब बोरे को खोला गया तो उसमे मोहम्मद जफीर बेहोशी की हालत में पाया गया. मोहम्मद जफीर के साथ रहने वाला मोहम्मद जहांगीर ने बताया कि कुछ दिन पहले भेरवा चौक के पास जफीर और जहांगीर चाय पी रहे थे तभी टेम्पू चालक बुद्धू आया और किसी बात को लेकर दोनों में बहस होने लगी. बहस किस बात को लेकर हुआ यह स्पष्ट नही हो पाया है. जहाँगीर के मुताबिक इसी वजह से जफीर का अपहरण किया गया था.

पुलिस को आवेदन कहै इंतजार

वहीं जोकीहाट पुलिस का कहना है कि अभी तक आवेदन नही मिला है, आवेदन मिलने के बाद कार्यवाई की जाएगी.